DA PA Kya Hai Domain Authority Kaise Badhaye [ 16 Ultimate Guide ]

Domain Authority kaise badhaye & DA एक Search Engine Ranking का ऐसा Score है जिसे Moz द्वारा Devlope किया गया है जो यह बताता है कि किसी भी Website की  Search Engine Result Page (SERPs) पर Rank करने की संभावना कितनी है। किसी Website का Domain Authority Score 1 से लेकर 100 तक होता है, जिसमें रैंक करने की क्षमता अधिक होती है। 

DA PA kya hai? 

जिन Website का यह Score ज्यादा होता है उनके rank होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है लेकिन आपको हम बता दें Google MOZ के इस Rating System को नहीं मानता है लेकिन फिर भी थोड़ा बहुत तो फर्क जरूर पड़ता है, इसलिए इसे नजर अंदाज ना करें।

Read Also –  Traffic Kaise Badhaye | Traffic कैसे बढ़ाये अपने Website पे 101 Secrete way to Increase Traffic

Domain Authority ( DA ) क्या है ?

Domain Authority की गिनती कई आधार पर की जा सकती है जिसके अनेको Factors हो सकते हैं, जिसमे Root Domain, Total Number of Links इत्यादि को Domain Authority (DA) गिनने के लिए शामिल किया जाता है। इस score को ऐसे Time पे देखा जाता है जब आप कोई Article या Post लिख रहे हों लेकिन उस keyword पे पहले से कोई Website Rank कर रही हो उस time पे हम Domain Authority Score का उपयोग करते हैं कि Domain का DA और PA क्या है और कितनी High Domain Authority बाली Website से हमारे Competitor ने Backlinks ले रखा है।

Domain Authority Google की Search Ranking को बढ़ाने बाला matric नहीं है और isse SERPs में कोई फर्क नहीं पड़ता है।

Page Authority ( PA ) क्या है?

Page Authority (PA) एक ऐसा स्कोर है जो कि MOZ द्वारा विकसित किया गया है जो यह बताता है कि Search Engine Result Page (SERP) पर एक विशिष्ट पेज कितनी अच्छी तरह से रैंक करेगा। Page Authority Score एक से लेकर 100 तक होता है, जिसमें रैंक करने की क्षमता अधिक होती है।
Real also – Backlink kya hai? backlinks kaise banaye 2021 में How to Make Powerful Backlinks Full Guide

Page Authority (PA)हमारे Web Index के डेटा पर आधारित है और दर्जनों कारणों को ध्यान में रखता है। Page Authority (PA) की तरह, यह एल्गोरिथ्म की पहचान करने के लिए एक मशीन लर्निंग मॉडल का उपयोग करता है जो कि हजारों SERPs पर रैंकिंग के साथ सबसे अच्छा संबंध रखता है, जिनके खिलाफ हम भविष्यवाणी करते हैं, फिर उस विशिष्ट गणना का उपयोग करके Page Authority (PA) Score का निर्माण करते हैं।

DA PA कैसे Check करें? | Best Domain Authority Checker Tools

आप Moz के Link Explorer, MozBar (Moz के Free SEO Toolbar), या Keyword Explorer के SERP Analysis section का उपयोग करके Domain Authority की जांच कर सकते हैं। Domain Authority Matrics को देखने के लिए बहुत सी Tools Website को Free में API दे रखा है इसलिए आप उन Website पे जाकर चेक कर सकते हैं। कुछ Website का Screenshot और Link हम निचे दे रहे जहॉ आप direct चेक कर सकते हैं।

Domain Authority Free में Check करें | Check your Domain Authority free

1 . MOZ Keyword Explorer में जाने के लिए यहाँ CLick करें

Domain Authority कैसे Check करें
DA PA Kya Hai Domain Authority Kaise Badhaye

2. websiteseochecker Tools में जाने के लिए यहाँ Click करें

Domain Authority कैसे Check करें
DA PA Kya Hai Domain Authority Kaise Badhaye

3. Small SEO Tools में जाने के लिए यहॉं Click करें

Domain Authority कैसे Check करें
DA PA Kya Hai Domain Authority Kaise Badhaye

तो दोस्तों यहाँ 3 Tools की Link दी हुई है जहां से आप Free में DA PA check कर सकते हैं।

DA PA kitna Hona chahiye? Best DA PA for website

सामान्यतः ऐसी Website जिन्होंने Google aur Wikipedia जैसी High Authority website से link ले रखा हो और उस Website की आयु ज्यादा हो जिसके rank होने की संभावबा बढ़ जाती है और ऐसी Website का Da Pa भी बढ़ जाता है लेकिन अगर कोई नई Website है तो उसकी Authority Starting में 1 से सुरु होगी क्युकि वह Website यही बिलकुल नई है और Internet में अभी जान-पहचान नहीं बनी है। लेकिन जैसे ही पुरानी होती जाएगी वैसे ही authority भी बढ़ती जाएगी।

इसलिए एक अच्छी Domain Authority हमेशा कई सालो से चल रही Website की बन सकती है और अगर नई Website को Grow करना है तो काफी मेहनत करनी पड़ेगी इसलिए आपको पुराने domain कही से मिल जाएं तो उससे बढ़िया कुछ नहीं।

डोमेन अथॉरिटी का सही उपयोग कैसे करें?

Domain Authority का सही उपयोग आपको अपनी Website की Ranking बढ़ाने के लिए करना चाहिए जिससे आपकी Website पे लाखों में Trafic आ सके। इसके लिए आपको High DA PA Website से Backlinks बनाना हो। अगर आपको नहीं पता की Backlink कैसे बनाये तो हमारी इस पोस्ट को जरूर पढ़ें।

DA और PA में अंतर | Domain Authority vs. Page Authority

Domain Authority पुरे Domain या Subdomain की Ranking पावर को मापता है, जबकि Page Authority व्यक्तिगत Page की Ranking को मापता है।

Domain authority Kaise Badhaye? How to increase DA PA

आज हम बात करेंगे अपने ब्लॉग या वेबसाइट की domain authority कैसे बढ़ाए। डोमेन authority पढ़ाने से पहले हमें यह जानना चाहिए कि हम domain authority क्यों बढ़ते है। तो आपको बता दूं की domain authority बढ़ाने से आपके वेबसाइट की पहचान बढ़ती है और आपको सबसे ज्यादा organic traffic प्राप्त होता है और इससे आपकी वेबसाइट बहुत अच्छा पैसा कमा पाती है और google को आपकी वेबसाइट पर google को trust भी होता है, तो अब हम जानेंगे की अपने website या blog की domain authority को कैसे बढ़ाए। नीचे दिए गए points में आपको अच्छे से समझ में आ जाएगा।

1- Content अच्छे से अच्छा पब्लिश करे जिसे user क्लिक करे:-

अपने वेबसाइट पर हमें ऐसा कंटेंट पब्लिश करना है जो unique हो ऐसा comtent जो किसी ने भी ना लिखा हो क्युकी content जितना अच्छा होगा। आपकी वेबसाइट की reputation उतनी ही ज्यादा बढ़ेगी। कहा जाता है ना “Content Is King”. तो जितना अच्छा content होगा लोगो की नजर भी उतनी ज्यादा बार उसपर पड़ेगी और आपके ब्लॉग का ट्रैफिक increase होगा जिससे आपकी Domain authority पर भी फर्क पड़ेगा और लोग google भी आपके कंटेंट को ज्यादा से ज्यादा रैंक करेगा।

2- On page seo पर ध्यान दे:-

अपने ब्लॉग का DA बढ़ाने के लिए On page seo बहुत ही ज्यादा important role play करता है। इसलिए आप इस पर अवश्य ध्यान दें। On page seo आप अपने content में करते हैं जिसमें आप h1, h2, h3, tags देते है। Heading, sub heading, minor heading, ये सभी के मिश्रण से on page seo होता है।

On page seo आपके ब्लॉग के लिए बहुत जरूरी है बिना उसके आज कि date में आप अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं ला सकते है और ना ही domain authority बढ़ा सकते हैं। इसलिए आपको अपने ब्लॉग में on page seo जरूर करें।

3– Targeted Keywords:-

जो आपके targeted keywords होते है जिसे आप अपने ब्लॉग में on page seo करते time use करते है। उनका use अच्छे से करे क्युकी on page seo की ये technique बहुत कारगर होती है कि हम आपने targeted keywords को किस तरह से अपने blog या website में डाल रहे हैं। इन keyword को अपने ब्लॉग में अच्छे से put करे।

4– Permalink Structure:-

Permalink भी आपके ब्लॉग के on page seo में काफी ज्यादा  जरूरी है। Permalink मतलब जब आप blog post likhte हैं तो अपने लिंक को बनाते हैं। तो कोशिश करिए उसे काफी छोटा बनाइए। जितना छोटा permalink होगा उतना ज्यादा आपको benefit होगा और google में आपका लिंक पूरा दिखेगा। बड़े permalink google में पूरा नहीं दिखता और खराब भी दिखता है। इसलिए इसे छोटा ही बनाइए और stop words का use बिल्कुल ना करे।

5– Keyword Density का खास ख्याल रखें:-

Keyword density का मतलब होता है कि आपका targeted keyword आपके ब्लॉग में कितनी बार आपने उसे किया हैं। ये आपकी keyword की density को दर्शाता है। 1000 word का आर्टिकल अगर आप बनाते है। तो उसमे 2% keyword density होनी चाहिए। आपके ब्लॉग की domain authority बढ़ाने के लिए keyword density का ध्यान में रखना बहुत जरूरी है।

6– Heading tags अवश्य दें:-

Heading tags वो tag होता है जो google को ये समझने में मदद करता है कि आप post किस बारे में है और जब आप पोस्ट को edit करते हैं उस time on page seo करते हैं। तब आप h1, h2, h3, h4 tags देते हैं। ये tags ही header tags कहलाते हैं और सभी tags आपके ब्लॉग में बहुत ज्यादा important role play करते हैं। जब आप अपने ब्लॉग पर on page seo करते हैं। तब ये header tags आप अपने ब्लॉग में use करते हैं। इससे आपके ब्लॉग को बहुत अच्छा boost मिलता है और आपका आर्टिकल google में रैंक होता है।

7– Image Optimization जरूर करे:-

जब आप अपना ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं तो उसमें images जरूर डालिए आपकी रैंकिंग factor में image का बहुत important role होता है। Image को आप अच्छे से optimized कर के ही डालिए जैसे इसमें alt tags, और description, captions जरूर डालिए। Images को compress कर के और अपने target keyword का alt tags में इमेज में जरूर डालिए। इस तरीके से आपके images का भी optimization हो जाएगा।

8– Meta Description में अपना title जरूर डालें:-

जब आप अपना ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं और अपनी permalink को बनाते हैं। तो नीचे की तरफ meta description भी डालते हैं। ये meta description वही description होता है जो google में link और title के नीचे थोड़ा सा content डला होता है और हमे अपने ब्लॉग के लिए meta description जरूर डालना चाहिए। Meta description में आपका main keyword आना बहुत जरूरी होता है। इसलिए ऐसा मेटा description लिखे जिसमें आपका target keyword उसमे जरूर आए। और आपके ब्लॉग या वेबसाइट को google में अच्छी रैंकिंग प्राप्त हो।

9– अपने पोस्ट में Internal Linking अवश्य करे:-

जब आप अपना ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं तो उसमें internal linking अवश्य करें। Internal linking का मतलब होता है कि जो पोस्ट आप लिख रहे हो उससे relate करती अगर आपके ब्लॉग में कोई और पोस्ट है तो आप उसे internal linking कर दो इससे आपकी वेबसाइट को बहुत ज्यादा फायदा होता है। और जब visitor आपके ब्लॉग पर आएगा तो internal linking के through वो आपके और blogs भी पढ़ सकता है,

तो उसका benefit भी आपको मिलेगा आपकी वेबसाइट पर ज्यादा duration बढ़ेगा जिसको stay time भी के सकते हैं। इससे आपकी साइट का bounce rate भी कम होता है और आपका pageviews भी boost होता है। तो इससे आपकी website की रैंकिंग increase  होती है और आपके ब्लॉग या website पर ज्यादा विजिटर आते है।

10- High quality backlink कैसे बनाएं:-

High quality backlinks आप तब बनाइए जब आपके ब्लॉग में 50 से लेकर 100 आर्टिकल हो जाए जिसमें backlinks बनाने का आपको पूरा फायदा मिल सके। High quality backlink आप अपने niche के किसी भी दूसरी वेबसाइट पर guest post कर के बना सकते हैं।

वो आपके guest post के बदले आपसे कुछ पैसे charge करेगा या फ्री में भी कर सकता है और आपको एक do follow backlink दे देगा इससे उसकी वेबसाइट का पूरा link juice आपको मिलेगा और ये सबसे असरदार तरीका हा backlink बनाने का ऐसा कर के आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए है quality backlink बना सकते हैं। इसके आलवा आप Form site पर backlink भी बना सकते हैं।

इसके अलावा comment backlink और profile backlink भी बना सकते हैं।

11- अपनी site को mobile friendly बनाए अपनी वेबसाइट की loading speed को कैसे ठीक करे:-

आज के समय में ज्यादातर लोग मोबाइल से ही internet use करते हैं और जब वो हमारी वेबसाइट पर आते हैं तो हमें इसके लिए अपने वेबसाइट का user interface मोबाइल friendly रखना चाहिए। आपको अपनी वेबसाइट की theme fast loaded, और seo optimized theme, जोकि mobile friendly हो उसे ही इस्तेमाल करना चाहिए। Mobile friendly theme डालने से हमारी रैंकिंग increase होती है और ये भी एक बहुत बड़ा रैंकिंग factor माना जाता है। आप अपने  ब्लॉग में Amp का use भी कर सकते हैं।

आप अपनी loading speed को बहुत ही आसानी से एक कर सकते हैं। उसके लिए WordPress पर बहुत से plugin है WP Rocket, इसका paid version आप ले सकते हैं और अपने ब्लॉग की loading speed को increase कर सकते हैं।

12- Clean और user friendly site structure बनाइए:-

हमारी वेबसाइट का जो डिजाइन होता है वह user पर बहुत बड़ा impression डालता है।  इसलिए हमे हमेशा अपने ब्लॉग का design simple ही रखना चाहिए क्युकी विजिटर हमारे ब्लॉग पर article पढ़ने आया है तो उसे एकदम simple design ही दिखेगी तो उसे ज्यादा अच्छा लगेगा।

लेकिन कुछ beginners ऐसे होते हैं जिनको proper jankari नहीं होती है वो जो ढेर सारे प्लगिंस लगा देंगे और अपने ब्लॉग को इतना ज्यादा design और colorful बनाएंगे की उनके ब्लॉग की speed इतनी कम हो जाएगी कि जल्दी से load ही नहीं होगी। इससे उनका user experience भी खराब होता है। इसके एलवा Blog की speed कम होने के कारण वो अपना आधे से ज्यादा traffic गवा देते हैं। इसलिए हमे अपने ब्लॉग की design एकदम simple और clear रखनी चाहिए।

13- Page में लिंक की संख्या कितनी रखे:-

आप अपने ब्लॉग पोस्ट में कितनी भी लिंक रख सकते हैं। परदादा लिंक अगर हम डालेंगे तो इससे विजिटर परेशान हो जाएगा। आप अपने ब्लॉग के 1000 words के content में 3 से 4% internal linking कर सकते हैं। इससे आपका user experience भी खराब नहीं होगा और आपको benefit भी होगा। ज्यादा link होने से आपके ब्लॉग की शोभा भी खराब होने लगती है। इसलिए ब्लॉग में काफी सोच समझ कर है लिंक डाले।

14- Social networking Site पर अपने blog को share करें:-

जब आप अपना ब्लॉक पोस्ट लिखते हैं ना तो उसे सोशल नेटवर्किंग साइट पर जरूर share करें। इससे आपकी Blog की authority बहुत तेजी से बढ़ती है और आपके ब्लॉग पर जब social ट्रैफिक आता है तब google को एक signal मिलता है की आपकी वेबसाइट पर सोशल ट्रैफिक आया है जरूर content बहुत अच्छा लिखा गया होगा। इसलिए सोशल नेटवर्किंग साइट पर आप अपने कंटेंट को जरुर शेयर करें। Linkedin, Twitter, जैसे प्लेटफॉर्म पर google के bots घूमते रहते हैं। वहां से को आपकी साइट को deduct कर लेते हैं।

15- अन्य ब्लॉग पर guest post publish करे:

अपने competitor की वेबसाइट पर आप guest post अवश्य करें। जब आप अपने competitor की website पर guest post करते हैं तो इससे उसकी वेबसाइट का link juice आपको मिलता है और इससे आपका DA बहुत तेजी से बढ़ता है। तो अपने ब्लॉग कि authority और अपने ब्लॉग के DA को बढ़ाने के लिए आप guest posting जरूर करे।

16- Old domain ( Domain को पुराना होने दें)

यही चीज regularly करने के बाद अपने domain को पुराना होने दे क्युकी आपका domain जितना पुराना होगा आपका आपको उतना benefit मिलेगा लेकिन benefit तभी मिलेगा जब आप regular अपने ब्लॉग में काम करेंगे और quality content post करेंगे। Domain जैसे जैसे पुराना होता है वैसे वैसे उसकी authority increase होती जाती है।

17- Regular Content Publish करे:-

आप जो कंटेंट लिखते हैं उसे एकदम unique लिखिए और regularity के साथ daily publish करिए। Content is king ये बात जिसने भी कहीं है एकदम सही कही है। इसके अलावा आपको अपनी consistency पर भी focus करना पड़ेगा। आपको अपना कंटेंट regularly पोस्ट करना होगा। अगर आज एक post डाला है,

तो कल भी एक डालिए परसो भी एक डालिए ऐसा नहीं करना की आज डाला उसके दो या तीन दिन बाद डाला ऐसा करने पर आपकी domain authority increase होने की बजाय घट भी सकती है। इसका खास ख्याल रखिएगा कि आप अपना कंटेंट daily publish करें। इससे आपकी domain authority increase होगी।

18- आपनी site से bad links को remove करें:-

अपनी site से  bad links को जरुर remove करे। क्युकी इससे हमारी साइट का spam score भी बढ़ सकता है और google ऐसी वेबसाइट को पसन्द नहीं करता है जिसकी वेबसाइट की bad लिंक्स बनी हो। जब आप बैकलिंक बनाते है तब कुछ बेकार की लिंक्स बन जाती है। जिसको हमे अपने website या blog से remove कर देना चाहिए।

19- Site को HTTP से HTTPS पर move करे

Google हमेशा चाहता है कि आपकी वेबसाइट ssl secure रहे और ssl certificate का हमारी website पर होना बहुत जरूरी है और उसके लिए आपकी वेबसाइट पर https होना जरूरी है। गूगल इसे भी ranking factor के तौर पर गीन ने लगा है और जिसकी वेबसाइट पर SSL Certificate https install होता है उसको first priority देता है और अगर आपकी वेबसाइट पर http है तो google उस वेबसाइट को secure नहीं मानता है।

Ssl certificate से आपकी रैंकिंग बेहतर होती है और वेबसाइट का ट्रैफिक भी increase होता है।

Google ने उन websites को unsecure दिखाना शुरू कर दिया है जो अभी भी http use कर रही है। इसके चलते visitor जब भी unsafe website को देखता है तो तुरंत back button press करता है। तो इससे वेबसाइट का bounce rate भी increase होता है जो website के लिए negative signal है।

20- Site के लिए sitemap submit करे:-

Sitemap हमारी वेबसाइट के लिए बहुत जरूरी है। Google में तो ऐसे करोड़ों वेबसाइट है उसे कैसे पता चलेगा कि कौन सी वेबसाइट हमारी है। इसलिए sitemap जरूर submit करे। Sitemap Google Crawlers को आपकी वेबसाइट के Content को अच्छे से Crawl करके Google के search engine में लाने में मदद करता है। उसके बाद ही आपकी website rank होती है। अगर आपकी साइट को google के crawlers crawl ही नहीं कर पाएंगे तो रैंक कहा से करेगा google इसलिए अपनी साइट का sitemap जरूर submit करे।

Quick tips Blog की domain Authority कैसे बढ़ाएं:-

1- Quality Content पब्लिश करे। Content को daily post करे।

2- On-Page-Seo पर focus करे। On page seo भी आपके DA को बढ़ाने में मदद करता है।

3- Internal linking पर focus करिए।

4- Quality backlinks पर focus करिए। Quality backlinks बनाने से आपकी वेबसाइट की authority बहुत अच्छी होती है।

5- Guest post करिए इससे आपको quality backlink मिलेगी और आपका DA बहुत तेजी से बढ़ेगा।

6- Patience रखिए और अपने domain को पुराना होने दीजिए।

7- Site को Http से https पर मूव करे। अगर आपकी site पहले से https पर है तो निश्चित रहे और आगे की टिप्स को फॉलो करे।

8- अपनी वेबसाइट के लिए sitemap जरूर बनाइए और उसे google में submit कीजिए।

DA PA ki jaankari

ये Domain authority बढ़ने का process बहुत धीमे होता है इसलिए सब कुछ करने के बाद अब आप patience रखिए। Google में आपकी website रैंक भी करेगी उसपर ट्रैफिक भी आएगा। और आपकी domain authority भी increase होगी।

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया की domain authority कैसे बढ़ाएं आशा करते हैं आपको हमारा ये आर्टिकल अच्छा लगा होगा। अगर अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करे ताकि वो भी अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर काम करे और अपने ब्लॉग की authority को increase कर पाए।

https://www.youtube.com/watch?v=2Nlu2eWOXxs&ab_channel=AmitTiwari
DA PA KYA HAI FULL VIDEO

FAQ

Q1- क्या वेबसाइट के Rank करने में DA महत्वपूर्ण है?

Ans1- जी हां अगर आपकी website का DA PA high है तो इसके ज्यादा chances है कि आपकी site गूगल मे जल्दी रैंक करेगी लेकिन quality content नहीं होगा तो रैंकिंग down भी हो जाएगी। DA PA तभी beneficial है जब आपका कंटेंट हर वेबसाइट से अच्छा better होगा।

Q2- DA किसके द्वारा Develop किया गया है?

Ans2- DA एक मैट्रिक्स है जिसको MOZ ने Develop किया है।

Q3- Website का DA को कैसे बढ़ाएं?

Ans3- Website का DA बढ़ाने के लिए सबसे जरूरी चीज होती है बैंकलिंक समय के साथ जब आपकी वेबसाइट में ढेर सारे आर्टिकल होते हैं तो उसके बाद आप बैकलिंक पर फोकस कर सकते हैं इससे आपका DA अवश्य बढ़ेगा। बाकी ऊपर दी गई जरूरी techniques को follow कर के DA बढ़ा सकते हैं।

Q4- क्या DA बढ़ने के बाद घट भी जाता है।

Ans4- जी हां DA बढ़ने के बाद घट भी सकता है। लेकिन ऐसा तभी होता है जब आप अपनी साइट पर काम करना बंद कर दें या फिर फिर उसमे spamming करें।

Q5- क्या कम DA वाली Website ज्यादा DA वाली Website को रैंकिंग मे beat कर सकती है?

Ans5- जी हां अगर कम DA वाली website का content high DA वाली वेबसाइट से अच्छा है तो कम DA wali site ही ऊपर रैंक करेगी। क्यूंकि गूगल आज कि date में इतना Advance हो गया है कि वो अपने user को अच्छा आर्टिकल ही show करता है।

 

2 thoughts on “DA PA Kya Hai Domain Authority Kaise Badhaye [ 16 Ultimate Guide ]”

Leave a Comment